ग्रामीण क्षेत्रों में प्रशासन की पैनी नजर, कलेक्टर ने टेस्टिंग सेंटर देखे, रोग निरोधी किट का वितरण और पल्स आक्सीमीटर से परीक्षण जैसे कार्यो का किया निरीक्षण

 

-कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रों का किया सघन दौरा , टेस्टिंग और चिन्हांकन पर दिया जोर

दुर्ग । असल बात न्यूज।

 कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने  दुर्ग और पाटन ब्लॉक के ग्रामीण क्षेत्रों का सघन दौरा किया। यहां पर इन्होंने टेस्टिंग की मॉनिटरिंग की और कोरोना मरीजों के चिन्हांकन की समीक्षा की।  कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे के पश्चात कोरोना के लक्षण वाले मरीजों को ग्रामीणों को तुरंत टेस्टिंग सेंटर भेजा जाए। यहां पर टेस्ट के पश्चात उनका मेडिकल परीक्षण कर प्रोटकॉल के मुताबिक आगे की कार्रवाई की जाए।

  उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में पल्स ऑक्सीमीटर के माध्यम से लोगों के ऑक्सीजन लेवल की हो रही जांच का निरीक्षण भी किया। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में शत-प्रतिशत ग्रामीणों का सर्वे आवश्यक है ताकि कोरोना के लक्षण वाले मरीजों की पहचान की जा सके। उन्होंने कहा कि क्वारन्टीन सेंटर में आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित हो। कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक मुनादी के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना के लक्षणों के संबंध में लोगों को लगातार जानकारी दी जाए तथा कोरोना के सर्दी खासी बुखार जैसे लक्षण मिलते ही नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में परीक्षण कराने के निर्देश दिए। 

 कलेक्टर ने आइसोलेशन सेंटर का निरीक्षण भी किया तथा यहां व्यवस्थाओं की जानकारी ली उन्होंने रोग निरोधी के प्रदाय किए जाने से संबंधित जानकारी भी ली। कलेक्टर ने एसडीएम से कोरोना संक्रमण के रोकथाम की लगातार मॉनिटरिंग के निर्देश दिए तथा युद्ध स्तर पर कार्य करते हुए लोगों के चिन्हांकन के कार्य को करने के निर्देश दिए ताकि संक्रमण के प्रसार को प्रभावी रूप से नियंत्रित किया जा सके।