स्वरूपानंद महाविद्यालय में विश्व पृथ्वी दिवस के अवसर पोस्टर एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन

 


भिलाई। असल बात न्यूज।

स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय आमदी नगर हुडको भिलाई मे कला संकाय द्वारा विश्व पृथ्वी दिवस के उपलक्ष में ई स्लोगन एवं ई पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में 43  विद्यार्थियों ने भाग लिया। अपने स्लोगन व पोस्टर के माध्यम से प्रतिभागियों ने पृथ्वी को बचाने का संकल्प लिया। विद्यार्थियों की प्रतिभागिता दर्शाती है विद्यार्थी अपने पृथ्वी के बचाव के लिए जागरूक है व उसका संरक्षण व संवर्धन चाहते हैं। प्रतियोगिता की निर्णायक डॉ कविता वर्मा सहायक अध्यापक शिक्षा विभाग कल्याण महाविद्यालय भिलाई एवं डॉ दुर्गा शर्मा विभागाध्यक्ष हिंदी रतनचंद सुराना महाविद्यालय दुर्ग थीं।

कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए डॉ सुनीता वर्मा विभागाध्यक्ष हिंदी व प्रभारी कला संकाय ने बताया विश्व पृथ्वी दिवस ,वैश्विक जलवायु संकट के प्रति जागरुकता लाने के लिए प्रतिवर्ष मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम "रिस्टोर अवर अर्थ" रखी गई है।पृथ्वी पर जैसे-जैसे जनसंख्या बढ़ रही है, वैसे- वैसे प्रदूषण, प्राकृतिक संसाधनों का दोहन तेजी से बढ़ रहा है। इस असंतुलन के कारण वो दिन अब दूर नहीं है जब पृथ्वी पर रहने का स्थान नहीं बचेगा। ऐसे में जरूरी है कि सही समय पर सभी लोग जाग जाएं और अपनी जिम्मेदारियों को समझना शुरू कर दें।  विद्यार्थियों में जागरूकता लाने के उद्देश्य से कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम आयोजन के लिए बधाई देते हुए प्राचार्य डॉ हंसा शुक्ला ने कहा पृथ्वी दिवस को मनाए जाने का वास्तविक लाभ तभी है, जब हम आयोजन को केवल रस्म अदायगी तक ही सीमित न रखें, बल्कि धरती की सुरक्षा के लिए इस अवसर पर लिए जाने वाले संकल्पों को पूरा करने हेतु हरसंभव प्रयास भी करें।

महाविद्यालय के सी ओ ओ डॉ दीपक शर्मा ने अपने संदेश में कहा यह दिन प्रदूषण, वनों की कटाई जैसी समस्याओं  पर  सार्थक पहल करने का  अवसर है। ओजोन लेयर में क्षति होने के कारण जलवायु परिवर्तित हो रही है। इंसान पृथ्वी के प्रति अपने कर्तव्यों से दूर होता जा रहा है। यही कारण है कि विश्व पृथ्वी दिवस का आयोजन करके लोगों का ध्यान इस और आकर्षित करने का प्रयास किया जाता है।

डॉ कविता वर्मा ने बताया विद्यार्थियों ने बहुत ही अच्छे पोस्टर बनाए हैं व स्लोगन लिखे हैं निर्णय करना बहुत कठिन था विद्यार्थियों की प्रतिभा दर्शाती है पृथ्वी अब सुरक्षित हाथों में है।हमें पृथ्वी के संरक्षण करने और दुनिया के पारिस्थितिक तंत्र के पुनर्निर्माण पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अपना काम शुरू करने की आवश्यकता है। 

डा दुर्गा शर्मा ने बताया पोस्टर प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं का उत्साह देखते ही बनता है इस तरह प्रतियोगिता का आयोजन होते रहना चाहिए बहुत ही सराहनीय कार्य है विशेषत : जिस विद्यार्थी ने पृथ्वी को दो टुकड़े होते हुए दिखाया है ऐसा लगा यह हमारे भविष्य की भयानक तस्वीर है अगर आज भी हम सचेत नहीं हुए तो पृथ्वी ऐसे ही दो भागों में बंट जाएगी।

विजयी प्रतिभागियों के नाम इस प्रकार है:-

ई -पोस्टर:-

 प्रथम -अनिमेष बी.बी.ए तृतीय सेमेस्टर

द्वितीय-यशस्वी सिंह बी.बी.ए.तृतीय सेमेस्टर

 तृतीय -सुजीत कुमार कुशवाहा बी. ए.प्रथम वर्ष

सांत्वना-संजीता पाल बी एड् तृतीय सेमेस्टर

 ई-स्लोगन:-

प्रथम -रेणुका साहू बी.एस.सी तृतीय वर्ष

द्वितीय-हर्षा साहू बी.एड्  प्रथम सेमेस्टर

 तृतीय -परिजात श्रीवास्तव बी.एस.सी .द्वितीय वर्ष

सांत्वना-पूजा रावटे बी.एस.सी. तृतीय वर्ष

इसे मनाने का मकसद यही है कि लोग पृथ्वी के महत्व को समझें और पर्यावरण को बेहतर बनाए रखने के प्रति जागरूक हों. वह विद्यार्थी पर्यावरण संरक्षण और पृथ्वी को बचाने के लिए संकल्पित हो कार्यक्रम की सार्थकता भी इसी में है।