चिकित्सालय भवनों और हॉस्पीटलों में अग्निशमन सुरक्षा के मापदण्डों की जांच होगी

 


कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी ने जोनवार और अनुविभागवार टीम गठित की

रायपुर । असल बात न्यूज।

कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी डॉ एस भारततीदासन ने रायपुर जिले के अन्तर्गत चिकित्सालय भवनों और हॉस्पीटलों में अग्निशमन सुरक्षा के मापदण्डों का कड़ाई से पालन करने  हेतु फायर ऑडिट, अग्नि सुरक्षा एवं अन्य मानको की जांच करने तथा भारतीय राष्ट्रीय निर्माण संहिता 2016 के अन्तर्गत हायर प्रिवेंशन/ लाईफ सेफ्टी. फायर प्रोटेक्शन के निर्धारित मापदण्डो का आंकलन करने हेतु जोनवार और अनुविभागवार दल गठित किया है ।

श्रीमती पूनम शर्मा, डिप्टी कलेक्टर एवं अनुविभागीय दण्डधिकारी को  नगर निगम रायपुर के जोन क्रमांक 1 , श्री मुकेश कोठारी, डिप्टी कलेक्टर एवं कार्यपालक दण्डाधिकारी, रायपुर को जोन क्र. 2, श्रीमती गीता दीवान, डिप्टी कलेक्टर एवं क्षेत्रिय उपायुक्त, भू अभिलेख को जोन क्र. 03 , श्री राजीव कुमार पाण्डेय, संयुक्त कलेक्टर एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी, रायपुर को जोन क्र. 04 ,श्री संदीप कुमार अग्रवाल, संयुक्त कलेक्टर एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी (नगर) रायपुर को जोन क्र. 05 , श्री नवीन ठाकुर , डिप्टी कलेक्टर एवं अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी,रायपुर विकास प्राधिकरण को जोन क्र. 06 ,श्री जगन्नाथ वर्मा, डिप्टी कलेक्टर एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी नगर को जोन क्र. 07,  श्री अरविन्द पाण्डेय, संयुक्त कलेक्टर एवं महाप्रबंधक छ.ग.पा.पु.नि. रायपुर को जोन क्र. 08 ,श्रीमती अवंती गुप्ता, डिप्टी कलेक्टर एवं सहायक संचालक, संचालनालय खेल एवं युवा कल्याण विभाग, रायपुर को जोन क्र. 09, श्री अमित वेग, तहसीलदार एवं कार्यपालिक दण्डाधिकारी, रायपुर को  जोन क्र. 10  में रखा गया है। इन दलों में अन्य विभागों जैसे नगर निगम, नगर एवं ग्राम निवेश, नगर सेना, लोक निर्माण विभाग, विद्युत मंडल, विद्युत एवं यांत्रिकी विभाग तथा पुलिस विभाग के अधिकारी भी शामिल है।

इसी तरह अनुविभागीय दण्डाधिकारी, रायपुर नगर पालिक निगम रायपुर के क्षेत्र को छोड़कर शेष रायपुर अनुभाग के अन्तर्गत आने वाले हास्पीटलो का निरीक्षण करेंगे। अनुविभागीय दण्डाधिकारी अभनपुर और आरंग अपने अनुभाग क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाले हॉस्पिटलों का निरीक्षण करेंगे।

इन दलों के द्वारा रायपुर जिला क्षेत्र अन्तर्गत स्थित चिकित्सालय भवनो तथा हॉस्पीटलो में अपनी सुरक्षा मानको की जांच करेंगें एवं  निर्धारित प्रारूप में प्रतिवेदन प्रस्तुत करेंगे।