सेक्टर-9 हास्पिटल में इलाज की मानिटरिंग के लिए पहुँची जिला प्रशासन की टीम

 


मरीजों के इलाज की समीक्षा की, कहा हर संभव व्यवस्था करें ताकि मरीजों की रिकवरी हो शीघ्र

दुर्ग । असल बात न्यूज़।

कोरोना के संक्रमण से मुख्य चिकित्सालय सेक्टर में हो रही मौतों को जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है।जिला प्रशासन की एक टीम ने आज भिलाई इस्पात संयंत्र के इस मुख्य चिकित्सालय का दौरा किया। इस टीम ने अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं कोरोना के गंभीर मरीजों की हालत, तथा रेमडेसीविर जैसी दवाइयों की उपलब्धता के बारे में जानकारी ली।उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों से कोरोना के संक्रमण चलते मुख्य चिकित्सालय sector 9 में मौतों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

जिला प्रशासन के अधिकारी अपर कलेक्टर सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी ने  सेक्टर-9 हास्पिटल का निरीक्षण किया। यहाँ उन्होंने कोविड मरीजों के स्वास्थ्य की जानकारी ली। उन्होंने यहा गंभीर मरीजों की स्थिति, रेमडेसिविर जैसी दवाओं की उपलब्धता की जानकारी ली। साथ ही उन्होंने वैक्सीनेशन के संबंध में भी विस्तृत समीक्षा की। सुश्री चौधरी ने कहा कि वैक्सीनेशन की ड्राइव जितनी तेज होगी, कोरोना संक्रमण से निपटने में उतनी ही आसानी होगी। 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कांटैक्ट ट्रेसिंग पर भी जोर दिया।

 उन्होंने कहा कि कांटैक्ट ट्रेसिंग जितनी बेहतर होगी, कोरोना संक्रमण से लड़ने में मदद मिलेगी। सुश्री चौधरी ने हास्पिटल मैनेजमेंट से कोविड मरीजों के आइसोलेशन को भी सुनिश्चित रखने कहा। उन्होंने कहा कि मरीजों के परिजनों की काउंसिलिंग की व्यवस्था बेहतर हो ताकि उन्हें समय-समय पर जानकारी मिलती रहे और वे मरीज की हेल्थ के प्रति आश्वस्त रहें। उन्होंने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था को लेकर किसी तरह के समन्वय की आवश्यकता है तो इसके लिए प्रशासन पूरी मदद करेगा। कोविड संक्रमण का प्रसार रोकने बेहद जरूरी है कि कोविड मरीजों का आइसोलेशन सुरक्षित रखा जाए। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर  जागेश्वर कौशल सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।