कोरोना के संक्रमितो के उपचार के लिए मुख्य चिकित्सालय सेक्टर 9 में व्यवस्था को और दुरुस्त तथा कारगर बनाने की जरूरत

 

भिलाई। असल बात न्यूज़।

यहां भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य चिकित्सालय सेक्टर 9 में कोरोना के संक्रमित मरीजों के उपचार की व्यवस्था को और दुरुस्त करने की जरूरत बढ़ती जा रही है। इस अस्पताल में कोरोना के मरीजों की मौतों का सिलसिला लगातार बढ़ता जा रहा है। उपचार के दौरान कोरोना से संक्रमित मरीजों की मौत की संख्या हर दिन बढ़ती जा रही हैं। आज भी इस अस्पताल में कोरोना के 17 मरीजों की मृत्यु हो जाने की खबर है।

वैसे तो पूरे छत्तीसगढ़  प्रदेश में कोरोना के संक्रमण की चपेट में आकर लोगों की मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है। पूरे प्रदेश में कोरोना के संक्रमण से आज 190 लोगों की जान चली गई है। इसमें राजधानी रायपुर के 44 और दुर्ग जिले के 21 लोगों की मौत भी शामिल है। दूसरी तरफ राज्य के बिलासपुर और बालोद जिले में भी खुराना के संक्रमण से मृत्यु की दर बढ़ गई है। बिलासपुर जिले में लगातार 30 से अधिक मौतें पिछले 2 दिन से हो रही है। बालोद जिले में भी कोरोना से मौत की संख्या बढ़ गई है। आज यहां 13 लोगों की जान चली गई है।

भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य चिकित्सालय की स्वास्थ्य सेवाओं और सुविधाओं पर यहां के कार्मिकों को हमेशा बड़ा भरोसा रहा है। कई तरह के रोगों के उपचार के लिए दूर-दूर से लोग इलाज के लिए यहां आते रहे हैं। कोरोना के संक्रमण के फैलाव के बाद इस अस्पताल की व्यवस्था तथा सुविधाओं की पोल खुलती जा रही है। खबर के अनुसार दुर्ग जिले में आज 21 लोगों की कोरोना के संक्रमण की चपेट में आ जाने से जान चली गई है। इसमें से 17 लोगों की मृत्यु संयंत्र के मुख्य चिकित्सालय में हुई है। उल्लेखनीय है कि भिलाई इस्पात संयंत्र के द्वारा अभी मेडिकल ऑक्सीजन की भी आपूर्ति की जा रही है ।

मुख्य चिकित्सालय सेक्टर नाइन में कोरोना से संक्रमित जिन लोगों की मौतें हुई हैं उसमें से 6 मरीज सिर्फ covid 19  कोरोना से संक्रमित थे। अन्य मरीज comorbidity अर्थात अन्य बीमारियों डायबिटीज, hypertension, ह्रदय रोग जैसी बीमारियों से भी पीड़ित थे।

इस अस्पताल में पिछले 4 दिनों से कोरोना के संक्रमितो के मौत की संख्या लगातार बढ़ गई है। 


......................