कोविड-19 के संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु रेडक्रॉस सदस्य/वालेंटियर्स करें हर सम्भव सहयोग - सुश्री अनुसुईया उइके

 


राज्यपाल ने किया आह्वान

इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी के चेयरमैन ने कलेक्टरों को कोविड रोकथाम व जनजागरूकता के लिए लिखा पत्र


रायपुर । असल बात न्यूज़।

 राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने  इंडियन रेडक्रास सोसायटी के वालंटियर्स को कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए सहयोग करने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा है इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी आपदा के समय हमेशा जरूरतमन्दो  की मदद करता रहा हैं। इनके वालंटियर्स दवाई, भोजन तथा अन्य किसी भी सेवा कार्य से पीड़ित लोगों की मदद कर रहे हैं। रेडक्रास वॉलंटियर्स इस संकट के समय पीड़ितों  तथा उनके परिजनों की हरसंभव मदद करें। साथ ही जनजागरूकता अभियान चला कर लोगो का आत्मबल बनाये रखें।


राज्यपाल के निर्देश पर सोसायटी के चेयरमेन श्री सोनमणि बोरा ने छत्तीसगढ़ के सभी कलेक्टरों एवं अध्यक्ष इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी, समस्त जिला शाखाओं को पत्र लिखा है। इसमें कोविड-19 के संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम से संबंधित कार्यों एवं लाकडाउन के दौरान जिला स्तरीय रेडक्रॉस सदस्य/वालेंटियर्स का सहयोग प्राप्त करने के संबंध में आवश्यक दिशानिर्देश दिए हैं।


पत्र में उल्लेखित है कि नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु राज्यपाल सह अध्यक्ष, इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी छत्तीसगढ़ के निर्देशानुसार आवश्यक कदम उठाये जाने के निर्देश दिए गए है। विश्व में रेडक्रॉस सोसायटी आपातकालीन परिस्थितियों में मानव सेवा के उद्देश्य पर कार्य करने वाली संवैधानिक एवं अग्रणी संस्था है। रेडक्रॉस वालेंटियर्स न सिर्फ शांतिकाल में अपितु आपातकालीन परिस्थितियों में भी कार्य करने हेतु प्रशिक्षित एवं प्रतिबद्ध हैं। 


सभी कलेक्टर्स इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी जिला शाखा के पदेन अध्यक्ष भी हैं। वर्तमान में कहीं-कहीं लॉकडाउन एवं  कोविड-19 के पूर्व से अधिक घातक संक्रमण के कारण उत्पन्न संकटपूर्ण परिस्थितियों में जिले में आवश्यक सेवा एवं नियंत्रण व्यवस्था में शासकीय अमले के साथ-साथ रेडक्रॉस एवं अन्य समाजसेवी लोग और संस्थाओं से सहयोग लिया जा रहा है, जो अत्यंत प्रशंसनीय है। कुछ जिलों द्वारा रेडक्रॉस सोसायटी के वालंटियर्स से बेहतरीन काम लिये जा रहे हैं। कुछ जिलों में रेडक्रॉस सोसायटी के सदस्य/वालेंटियर्स के सहयोग लेने का पर्याप्त अवसर है। रेडक्रॉस सोसायटी के इच्छुक सदस्य/वालेंटियर्स द्वारा इस मानवीय सेवा कार्य में सहभागी बनने हेतु लगातार संपर्क किया जा रहा है। संकटपूर्ण वर्तमान परिस्थितियों में रेडक्रॉस सोसायटी के सदस्यों/वालेंटियर्स द्वारा मानव सेवा के कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकते हैं।


पत्र में रेडक्रॉस सोसायटी के सदस्य/वालेंटियर्स के माध्यम से जिलों में मानवीय कार्यों में सहयोग हेतु सुझाव दिए गए है। पत्र में उल्लेख है कि कोविड-19 के संक्रमण के नियंत्रण हेतु सोशल डिस्टेंसिंग, अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, बार-बार अपने हाथ को सेनेटाइज करने एवं संबंधित जानकारियों के संबंध में जागरूकता लाने, रेडक्रॉस टीम द्वारा पात्र व्यक्ति को कोविड-19 का टीकाकरण कराये जाने जागरूक करने, क्वारंटाईन हेतु चिन्हित घरों के निगरानी दलों मे सदस्य के रूप में बुजुर्ग, बृद्धाश्रम, दिव्यांग, निराश्रित, जरूरतमंदों आदि लोगों के सहायता हेतु जरूरी वस्तुएं दवाईयाँ, भोजन इत्यादि को घर पहुँच सेवा में सहयोग, जन औषधि सेंटर/किराना स्टोर्स/सब्जी दुकान/सब्जी मंडियों/पेट्रोल पंप एवं गैस गोदाम में सोशल डिस्टेंसिंग हेतु जन-जागरूकता में सहयोग, रेडक्रॉस दवा दुकानों के माध्यम से आवश्यक दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने निगरानी दल में सहयोग के साथ ही इस पुनीत कार्य में सहयोग हेतु डोनेशन देने की अपील करने में आवश्यकतानुसार सहयोग लिया जा सकता है।


जिला प्रशासन के द्वारा आवश्यकतानुसार स्वविवेक से इन प्रशिक्षित रेडक्रॉस वालंटियर्स का सहयोग अन्य कार्यों मे भी लिया जा सकता है। जिला कलेक्टर एवं सोसायटी अपनी आवश्यकताओं एवं तकनीकी रूप  से आंकलन कर अपने-अपने स्तर से उपरोक्तानुसार पहल कर सकते है।  रेडक्रॉस सोसायटी के वालंटियर्स/सदस्य का उपयोग/सहयोग अपने जिले में कर सकते है, साथ ही वालंटियर्स/सदस्यों की स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के संबंध में आवश्यक प्रबंध भी सुनिश्चित करेंगे।