दुर्ग में लगातार चिंता बढ़ती जा रही है, कल की तुलना में आज 105 संक्रमित अधिक मिले, 793 नए संक्रमित मिले, 5 की मौत

 रायपुर, दुर्ग। असल बात न्यूज़।

कोरोना के संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों के बाद मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ कार्रवाई तेज की गई है तथा जुर्माना वसूला जा रहा है। बड़े- बड़े अधिकारी भी इस कार्रवाई में शामिल हो रहे हैं तथा आम लोगों को कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने की समझाइश दे रहे हैं। भीड़ जमा नहीं होने देने के लिए धार्मिक स्थलों, उद्यानों, खेलकूद मैदान तथा अन्य स्थानों पर सार्वजनिक कार्यक्रम के आयोजन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। कोरोना के पिछले 24 घंटों के दौरान आज 793 नए संक्रमित मिले हैं। कल की तुलना में 105 संक्रमित अधिक। हर दिन 24 घंटों के दौरान कोरोना के नहीं मिलने वाले संक्रमित हो की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे भी कहा जा सकता है कि संक्रमण की रोकथाम और बचाव के उपाय में कहीं ना कहीं कोई कमी और चूक जरूर हो रही है जिसके चलते संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कहीं भी संक्रमित, कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उस स्थल पर सैनिटाइजेशन करने की जिम्मेदारी नगर निगम की है। पिछले दिनों अस्पताल के चिकित्सक ने ही बताया है कि Corona positive निकलने के बावजूद निगम प्रशासन ने सैनिटाइजेशन की ओर ध्यान नहीं दिया। ऐसी उदासीनता के कभी- कभी गंभीर परिणाम सामने आते हैं । दुर्ग जिले में आज 5 संक्रमित की  मौत भी हुई है।

संक्रमण से ही संक्रमण फैलता है। जहा कोरोना पॉजिटिव है, नए संक्रमित मिल रहा है उस स्थान से संक्रमितो की संख्या बढ़ने की बहुत अधिक आशंका बन जाती है। ऐसे स्थान पर प्राथमिकतापूर्वक सैनिटाइजेशन की जरूरत होती है। और जबकि अभी हालत बहुत खराब हो रहे हैं  sanitization प्राथमिकता पूर्वक किया जाना चाहिए। इसमें कतई लापरवाही नहीं होनी चाहिए। सिर्फ कागजों में सैनिटाइजेशन कर इस का पैसा इधर उधर बंट नहीं जाना चाहिए। संक्रमण तथा वायरस के फैलाव को रोकने के लिए सैनिटाइजेशन किए जाने की पहली आवश्यकता  है। Sanitization नहीं होगा तो संक्रमण के फैलाव के रुकने की उम्मीद कैसे की जा सकती है।

अभी ताजा जो मामले सामने आ रहे हैं,कोरोना के संक्रमण के फैलाव के जो मामले सामने आ रहे हैं उसमें 1 साल 2 साल और 3 साल के बच्चों को भी कोरोना होने की खबर आई है। पिछले साल के दौरान जब कोरोना की शुरुआत हुई थी यह माना जा रहा था कि कोरोना के संक्रमण का बच्चों पर असर नहीं होगा। लेकिन इस बार अभी यह मिथक टूटता नजर आ रहा है। 20- 25 छोटे बच्चे संक्रमित मिल गए हैं। ऐसे हालात से चिंता और बढ़ रही है।

दूसरी तरफ भारी भीड़ जूटने वाले स्थल सिर्फ धार्मिक स्थल, उद्यान खेलकूद मैदान, तथा दूसरे सार्वजनिक स्थल ही सिर्फ नहीं है। मार्केट में कितनी भीड़ जुट रही है, दारू दुकान में कितनी भीड़ जुट जाती है। बसों तथा दूसरे सार्वजनिक वाहनों में सवारियां कितनी ठूस ठूस कर भरी जा रही हैं। ऐसे स्थान भी भारी भीड़ वाले क्षेत्र हैं। 

        ताजा स्थिति को देखें और आंकड़ों पर गौर करे तो कोरोना के संक्रमण के फैलाव मामले में यहां औद्योगिक शहर दुर्ग जिले की स्थिति काफी खराब होती जा रही है। इस जिले में कोरोना के एक्टिव केसेस की संख्या आगे बढ़कर 4085 हो गई है। इस जिले में 11 मार्च के बाद से कोरोना के संक्रमितो  की संख्या में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है। आज यहां 9 लोगों की मौत हो गई है। दुर्ग जिले में कोरोना के चपेट में आकर अब तक कुल 6 93 मौत हो गई है। इस महीने में इसी जिले में कोरोना से मौत का आंकड़ा काफी तेजी से बढ़ा है।

राज्य में कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से अपील की है कि अभी भी मास्क लगाने ,भीड़ से बचने की जरूरत है। लोगों में यह धारणा आ गई है कि कोरोना की वैक्सीन आ गई है अब मास्क लगाने की आवश्यकता नही है लेकिन यह गलत धारणा है। विषेषज्ञों के अनुसार वैक्सीन लगाने के बाद भी संक्रमण से बचने के लिए कोरोना अनुकूल व्यवहार करना ,मास्क लगाना ,सुरक्षित दूरी रखना आवष्यक है।ं साथ ही बुजुर्गों को विषेष रूप से और 45 वर्ष से अधिक के सभी लोगों को वैक्सीन जरूर लगाना चाहिए। इसलिए सभी को अपनी मनःस्थिति बदलनी होगी और समझदारी से मास्क लगाकर ही बाहर निकलना चाहिए । यदि अत्यंत आवष्यक हो तभी बाहर निकलना चाहिए। आगामी त्योहारों को ध्यान में रखकर सभी को सतर्कता बरतनी होगी,मेल मुलाकातों से बचना होगा । 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों और ऐसे व्यक्ति जिन्हे दूसरी  गंभीर बीमारी है उनको विषेष ध्यान देने की जरूरत है।

     चिकित्सक बार -बार सतर्क कर रहे हैं कि लक्षण दिखने के 24 घंटे के अंदर ही कोरोना की जांच करवा कर इलाज प्रारंभ  करना चाहिए जिससे रिकवरी की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।


.....................................

...............................

असल बात न्यूज़

खबरों की तह तक, सबसे सटीक 

और सबसे तेज खबर आप तक

मानवीय मूल्यों के लिए समर्पित पत्रकारिता

................................

....................................



.