मुंबई हावड़ा मार्ग के किनारे बसे जिलों में हो रही है कोरोना से अधिक मौत

छत्तीसगढ़ के वे जिले जो महाराष्ट्र की सीमाओ से सटे हुए हैं तथा जहां महाराष्ट्र के लोगों का व्यापारिक तथा अन्य वजह से अधिक आना जाना है वहां कोरोना के संक्रमण के मामले अधिक बढ़ रहे हैं। छत्तीसगढ़ में ट्रेन  चल रही हैं उसमें से 90% से अधिक ट्रेन महाराष्ट्र की तरफ से ही होकर आती है। वही कई सारी लोकल ट्रेन भी महाराष्ट्र तक आ जा रही है। सड़क मार्ग  से तो वहां से यहां हजारों वाहनों का प्रतिदिन आना जाना होता ही है।


 रायपुर, दुर्ग। असल बात न्यूज़।

0  चिंतन/ रिपोर्ट

अभी जिस तरह के आंकड़े सामने आ रहे हैं उसे देखकर लगता है कि छत्तीसगढ़ में मुंबई हावड़ा मार्ग के किनारे बसे जिलों में corona के संक्रमण से अधिक मौतें हो रही हैं। Corona  की, जिसे दूसरी लहर कहा जा रहा है उसमें तो लग रहा है कि बहुत कुछ ऐसा ही हो रहा है। अभी दुर्ग जिले में मौतों की संख्या बढ़ गई है। कई दिनों में तो यहां राजधानी रायपुर से भी अधिक मौतें हुई हैं। ऐसा नहीं है कि मुंबई-  हावड़ा मार्ग के किनारे स्थित जिलों में कोरोना वायरस को पसंद आने वाली कोई बहुत अधिक अच्छी चीजें मौजूद हैं लेकिन यह सच है कि संक्रमण इन्हीं इलाकों में फैल रहा है। चिंताजनक बात यह है कि स्कूली छात्र छात्राओं को भी कोरोना संक्रमण अब की चपेट में ले रहा है।स्कूलों में ऑनलाइन ऑफलाइन परीक्षा चल रही है जिसकी वजह से छात्र-छात्राओं को स्कूल जाना पड़ा है। परीक्षाओं के दौरान छात्र संक्रमित मिल रहे हैं।

छत्तीसगढ़ राज्य में मार्च महीने के 19 दिनों के भीतर कोरोना के 9064 नए संक्रमित मिले हैं तथा 70 लोगों की जान चली गई है। 1 मार्च को इस राज्य में कोरोना के कुल संख्या  संख्या 3 लाख12 हजार, 816 थी, यह संख्या 19 मार्च को बढ़कर 3 लाख 31 हजार 880 हो गई है। छत्तीसगढ़ में अभी Corona इस खतरनाक तेजी से फैल रहा है। यहां कोरोना के संक्रमण का फैलाव जिस तेजी से हो रहा है वह स्थिति चिंताजनक बन गई है। दुर्ग जिले में इस महीने के 19 दिनों में 20 लोगों  की मौत हो गई है। इसकी तुलना में कोरोना के नए संक्रमितो की संख्या यहां काफी बढ़ी है। रायपुर जिले में भी कमोबेश यही हालात है। यहां 1 मार्च को corona के कुल संक्रमित 55 हजार 649 हे जोकि अब बढ़कर 58 हजार 629 तक पहुंच गए हैं। राजधानी रायपुर और दुर्ग जिला दोनों मुंबई हावड़ा मार्ग पर स्थित छत्तीसगढ़ के प्रमुख महत्वपूर्ण जिले हैं। छत्तीसगढ़ में दूसरे दौर में कोरोना के संक्रमण का फैलाव वनांचल क्षेत्र में  ना के बराबर हुआ है। सरगुजा तथा बस्तर संभाग के जिलों में कोरोना का  प्रकोप अभी बिल्कुल कम है। यह सब इलाके मुंबई हावड़ा मार्ग से काफी दूर है।

आंकड़ों के अनुसार देखा जाए तो अभी छत्तीसगढ़ में रायगढ़, बिलासपुर और राजनांदगांव जिले में भी कोरोना के संक्रमण का फैलाव दूसरी लहर में काफी अधिक हुआ है। इन जिलों में कोरोना से मौत का आंकड़ा भी काफी बड़ा है। ये सभी जिले मुंबई हावड़ा मार्ग पर स्थित है।

यह भी गौरतलब है कि इन पीड़ित जिलों में भी सभी इलाकों में कोरोना के संक्रमण का फैलाव नहीं हो रहा है। इन जिलों के सिर्फ शहरी इलाके ही corona से पीड़ित है। इन आंकड़ों से यह अनुमान किया जा सकता है कि छत्तीसगढ़ में कोरोना का फैलाव किस वजह से हो रहा है। ऐसे में यहां यह अनुमान लगाया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ में जो corona के संक्रमण का फैलाव हो रहा है उसमें महाराष्ट्र टच का प्रभाव काफी अधिक है। महाराष्ट्र में corona के संक्रमण के मामले प्रतिदिन हजारों में बढ़ते जा रहे हैं और यहां इसकी चपेट में आकर प्रतिदिन लोगों की मौत  भी बड़ी संख्या में हो रही है।