एनपीपीए के द्वारा दवाइयों की कीमतें नियंत्रित करने उठाये गए कदम से आम जनता को होगा बड़ा फायदा, - सांसद विजय बघेल

 

शासकीय अस्पतालों में उच्च गुणवत्ता युक्त दवाइयां उपलब्ध कराने में लापरवाही नहीं होनी चाहिए

भिलाई, दुर्ग। असल बात न्यूज।

 दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय बघेल ने राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण एनपीपीए के द्वारा शुगर और ब्लड प्रेशर अन्य कई बीमारियों की  दवाइयों की बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने के लिए उठाए गए कदमों का स्वागत करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के द्वारा देश में प्रत्येक वर्ग के लोगों की जिंदगी बचाने तथा बीमारियों से निजात दिलाने के लिए सरल, सहज और सस्ती स्वास्थ्य तथा चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध  करने की कोशिश की जा रही है। इसी कड़ी में लोगों को सस्ती दवाइयां दिलाने  कदम उठाए गए हैं। इससे खास तौर पर शुगर और ब्लड प्रेशर के मरीजों को काफी फायदा होगा। उन्होंने कहा कि राज्यो को भी आम लोगों को बेहतर स्वास्थ्य उपलब्ध कराने की ओर ध्यान देना चाहिए और शासकीय अस्पतालों में  उच्च गुणवत्ता वाली दवाइयां उपलब्ध करानी चाहिए।


सांसद श्री बघेल ने कहा कि पूरे देश के साथ छत्तीसगढ़ प्रदेश में भी ब्लड प्रेशर और शुगर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। लगभग प्रत्येक दसवें परिवार में इसके मरीज मिल रहे हैं। इसके मरीजों को दवाइयां खरीदने में बहुत बड़ी राशि खर्च करनी पड़ती है और कई बार दवाइयां नहीं मिलने से मरीजों की हालत गंभीर हो जाने की स्थिति निर्मित हो जाती है। ऐसे समय में राष्ट्रीय औषधि मूल्य निर्धारण प्राधिकरण के द्वारा दवाइयों की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए उठाया गया कदम सराहनीय और प्रशंसनीय है। सस्ती दवाइयां, बीमार तथा कमजोर वर्ग के लोगों  की जिंदगी बचाने में सहायक सिद्ध होंगी। उन्होंने  कहा इस वैश्विक महामारी कोरोना  के संकट के समय में आम लोगों को लिए बेहतर स्वास्थ्य काफी महत्वपूर्ण हो गई है।कोरोना उन लोगों के लिए और घातक साबित हुआ है जोकि शुगर तथा ब्लड प्रेशर से पीड़ित हैं। ऐसे में इन बीमारियों की दवाइयां सस्ती दर पर  मिलने से लोगों को काफी फायदा मिलेगा।

 उन्होंने बताया कि प्राधिकरण ने अभी मधुमेह रोधी दवाओं सहित 81 दवाओं का मूल्य निर्धारित कर दिया है। इससे कई दवाइयों की कीमत काफी कम हो गई है। ‘इंसुलिन ह्यूमन इंजेक्शन, 200 आईयू/एमएल’ और ‘70 प्रतिशत आइसोफेन इंसुलिन ह्यूमन सस्पेंशन + 30 प्रतिशत इंसुलिन ह्यूमन इंजेक्शन 200 आईयू/एमएल’ तथा  ‘प्रासुग्रेल हाइड्रोक्लोराइड 10 एमजी (फिल्म कोटेड) + एस्पिरिन 75 एमजी (एंट्रिक कोटेड) कैप्सूल’ की कीमत अब कम हो जाएगी। ये नई कीमतें 17 march.2021 से लागू हो गई हैं। उन्होंने कहा कि अब  इस मूल्य नियंत्रण के उपाय से, आप लोगों को  उचित कीमत पर दवाओं को उपलब्ध कराने की कोशिश की जा रही है।


सांसद विजय बघेल ने कहा कि सस्ती दवाइयां उपलब्ध होने से हर साल लाखों लोगों को मौत के मुंह में जाने से बचाया जा सकेगा।





उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को भी अपने सरकारी अस्पतालों में उच्च गुणवत्ता युक्त दवाइयां उपलब्ध करानी चाहिए ताकि आम लोगों को  इन दवाई दवाइयों का इस्तेमाल  करने में संकोच, हिचक ना हो।  सरकारी अस्पतालों से आम लोगों, बीमार लोगों को बड़ी उम्मीद रहती है लेकिन वहां उपलब्ध   दवाइयों की गुणवत्ता  पर बार-बार सवाल उठते रहते हैं।