6 दिनों में 15 सौ से अधिक संक्रमित, आज 390 नए संक्रमित मिले

 

0 दुर्ग जिले में  दो हजार 51 active cases.

0 रायपुर जिले में दो हजार 483 एक्टिव केसेस.

00 स्कूलों में छात्र-छात्राएं भी मिलने लगे हैं संक्रमित.

रायपुर, दुर्ग। असल बात न्यूज।

यह आंकड़ा सिर्फ दुर्ग जिले का है।दुर्ग जिले में कोरोना के संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। हालत बेकाबू और चिंता जनक होते जा रहे  हैं। आज इसीलिए में 390 नए संक्रमित मिले हैं और इसकी चपेट में आकर 4 लोगों की मौत हो गई है। हर तरफ मरीजों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाने एंबुलेंस दौड़ ती नजर आ रही है। देखते-देखते corona संक्रमित की संख्या बढ़ती जा रही है।

दुर्ग जिले में शहरी इलाकों में कोरोना के संक्रमित मिल  रहे हैं। Bhilai 3 charoda जैसे शहरी इलाकों में भी प्रतिदिन 10-=12 नए संक्रमित मिल रहे हैं। Corona के संक्रमण का फैलाव अभी जिस तेजी से हो रहा है उससे एक सवाल यह भी उठ रहा है कि कि कहीं यह कोई नया स्ट्रेन तो नहीं है जिसके संक्रमण का फैलाव तेज गति से होता हो।

कोरोना के संक्रमण से पिछले 24 घंटों के भीतर राजधानी रायपुर में पांच और दुर्ग जिले में 4 लोगों की जान चली गई है।रायपुर जिला और दुर्ग जिला कोरोना के हॉटस्पॉट बनने की ओर बढ़ रहे हैं । यहां हर दिन बड़ी संख्या में संक्रमित मिल रहे हैं। ताजा खबर के अनुसार राजधानी रायपुर में पिछले 24 घंटे के दौरान 428 नए संक्रमित मिलने के बाद यहां कोरोना के एक्टिव केसेस की संख्या 2481 हो गई है। दुर्ग जिले में सक्रिय मामले 2257 हो गए हैं।राज्य के दूसरे जिलों में corona के बहुत कम मामले मिल रहे हैं। लेकिन रायपुर और दुर्ग जिले में ही जो हालात हैं उससे पूरी स्थिति काफी चिंताजनक हुई है।


लक्षण दिखने के 24 घंटे के अंदर कोरोना जांच कराएं-डाॅ पांडा

 राज्य में कोरोना संक्रमण में वृद्धि को देखते हुए चिकित्सक बार-बार चेतावनी दे रहे हैं कि अभी भी सबको कोरोना अनुकूल व्यवहार करने की जरूरत है। मेकाहारा के पल्मोनरी विषेषज्ञ डाॅ आर के पांडा ने कहा कि अभी के मौसम को देखते हुए मामूली सर्दी,खांसी,बुखार को भी नजरअंदाज न करते हुए कोरोना जांच कराना चाहिए। साथ ही जांच कराने के बाद स्वयं को आइसोलेट करना चाहिए जिससे यदि जांच में पाजिटिव आए तो अपने परिवार को  इससे बचा सकें।

    डाॅ पांडा ने कहा कि पात्र लोगों को वैक्सीन जरूर लगाना चाहिए । बुजुर्गों को जल्दी ही वैक्सीन लगाना चाहिए ताकि वे सुरक्षा के प्रथम चक्र में आ जाएं । वैक्सीन लगाने के बाद भी मास्क लगाना,भीड़ से बचना और हाथों की सफाई  अनिवार्य है। पहली डोज के 28 दिन बाद दूसरी डोज लगाना है । दूसरी डोज के 14 दिन बाद व्यक्ति के शरीर में प्रतिरोधात्मक क्षमता विकसित होती है। इसलिए दूसरी डोज लगने के बाद भी कोरोना अनुकूल व्यवहार करना जंरूरी है।