संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2020 की लिखित परीक्षा के परिणाम घोषित

 


नई दिल्ली। असल बात न्यूज़।

संघ लोक सेवा आयोग द्वारा दिनांक 08 जनवरी, 2021  से 17 जनवरी, 2021 तक आयोजित सिविल सेवा (प्रधान) परीक्षा, 2020  के परिणामों के आधार पर निम्नलिखित अनुक्रमांक वाले उम्मीदवारों ने भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय विदेश सेवा, भारतीय पुलिस सेवा तथा अन्य केन्द्रीय सेवाओं (समूह ‘क’ तथा समूह ‘ख’) में चयन हेतु व्यक्तित्व परीक्षण (साक्षात्‍कार) के लिए अर्हता प्राप्त कर ली है।

 

इन उम्मीदवारों की उम्मीदवारी, इनके सभी प्रकार से पात्र पाए जाने के अध्यधीन अनंतिम है। उम्मीदवारों को उनके व्यक्तित्व परीक्षण (साक्षात्‍कार) के समय आयु, शैक्षणिक योग्यताओं, समुदाय, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग, बेंचमार्क विकलांगता आदि के अपने दावों के समर्थन में मूल प्रमाण पत्र तथा अन्य दस्तावेज, जैसे यात्रा भत्ता प्रपत्र आदि प्रस्तुत करने होंगे। अत:, उम्‍मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे उपर्युक्‍त दस्‍तावेज तैयार रखें। अ.जा./अ.ज.जा./अ.पि.व./ईडब्‍ल्‍यूएस/बेंचमार्क विकलांगजन/पूर्व-सैन्‍य कर्मियों के लिए उपलब्‍ध आरक्षण/रियायत का लाभ उठाने के इच्‍छुक उम्‍मीदवारों द्वारा प्रस्‍तुत किए जाने वाले मूल प्रमाणपत्र, सिविल सेवा(प्रारंभिक) परीक्षा, 2020 के आवेदन-पत्र जमा करने की अंतिम तारीख अर्थात् 03.03.2020 से पहले जारी हुए होने चाहिए।

 

इन उम्मीदवारों का व्यक्तित्व परीक्षण (साक्षात्‍कार) शीघ्र ही प्रारंभ होगा। व्यक्तित्व परीक्षण,  संघ लोक  सेवा आयोग, धौलपुर  हाउस,  शाहजहां  रोड, नई दिल्ली-110069  के  कार्यालय में आयोजित  होगा। उम्‍मीदवारों के व्‍यक्तित्‍व परीक्षण (साक्षात्‍कार) हेतु ई-समन पत्र शीघ्र उपलब्ध कराए जाएंगे, जिन्हें आयोग की वेबसाइट https://www.upsc.gov.in  तथा https://www.upsconline.in से डाउनलोड किया जा सकता हैं। ऐसे उम्‍मीदवार, जिन्‍हें व्‍यक्तित्‍व परीक्षण हेतु ई-समन पत्र डाउनलोड करने में कठिनाई हो, वे आयोग कार्यालय से पत्र द्वारा या  टेलीफोन नं. 011-23385271, 011-23381125, 011-23098543 या फैक्स नं. 011-23387310, 011-23384472 पर या ई-मेल (csm-upsc@nic.in) के माध्‍यम से तत्काल संपर्क करें। आयोग द्वारा व्‍यक्तित्‍व परीक्षण (साक्षात्‍कार) हेतु कोई कागजी समन पत्र जारी नहीं किया जाएगा।

 

सामान्‍यत:, उम्‍मीदवारों को सूचित की गई व्‍यक्‍तित्‍व परीक्षण(साक्षात्‍कार) की तारीख तथा समय में परिवर्तन के किसी भी अनुरोध पर विचार नहीं किया जाएगा।

 

व्‍यक्तित्‍व परीक्षण (साक्षात्‍कार) के लिए अर्हता प्राप्‍त सभी उम्‍मीदवारों को, सार्वजनिक प्रकटन योजना के अंतर्गत अपने अंकों को सार्वजनिक रूप से प्रकट करने (ऑप्‍ट इन) या नहीं करने (ऑप्‍ट आउट) में से किसी एक विकल्‍प को चुनना होगा। उम्‍मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के पत्र सं. 39020/1/2016-स्था.(दिनांक 21.06.2016, 19.07.2017 तथा “पोर्टल के माध्‍यम से सार्वजनिक प्रकटन के प्रयोजन से उन उम्‍मीदवारों के अंकों की घोषणा, जिन्‍हें आयोग द्वारा परीक्षा के परिणाम के आधार पर अनुशंसित नहीं किया गया है”  संबंधी आयोग के नोट का अवलोकन करें। उम्‍मीदवार यह नोट कर लें कि ऑप्‍ट इन/ऑप्‍ट आउट का विकल्‍प प्रस्‍तुत करने के बाद ही वे अपना ई-समन पत्र डाउनलोड कर पाएंगे। उम्मीदवार यह नोट कर लें कि इस संबंध में, बाद में, किसी भी परिवर्तन की अनुमति नहीं दी जाएगी।

विस्‍तृत आवेदन पत्र-II (डीएएफ-II) के संदर्भ में, सिविल सेवा परीक्षा, 2020 की नियमावली में निम्‍नलिखित प्रावधान किए गए हैं:

 

“(2) उम्मीदवारों को परीक्षा हेतु व्यक्तित्व परीक्षण (साक्षात्कार) आरंभ होने से पहले अपने ऑनलाइन विस्‍तृत आवेदन पत्र-II (डीएएफ-II) में, अनिवार्य रूप से, संबंधित वर्ष के लिए सिविल सेवा परीक्षा की प्रतिभागी सेवाओं में से उन सेवाओं के लिए अपने वरीयता क्रम का उल्लेख करना होगा, जिन सेवाओं के अंतर्गत वह आबंटन का इच्छुक है। इस डीएएफ के साथ उम्मीदवारों को उच्चतर शिक्षा, विभिन्न क्षेत्रों में अपनी उपलब्धियों, सेवा अनुभव, अ.पि.व. अनुबंध (केवल अ.पि.व. श्रेणी के लिए), ईडब्ल्यूएस अनुबंध (केवल ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए) आदि संबंधी दस्‍तावेज/प्रमाण-पत्र भी अपलोड करने होंगे।

 

(3) संघ लोक सेवा आयोग द्वारा सेवा आबंटन हेतु अनुशंसा किए जाने की स्थिति में संबंधित उम्मीदवार को, अन्‍य शर्तों के पूरा होने के अध्‍यधीन, सरकार द्वारा केवल वही सेवाएं आबंटित करने पर विचार किया जाएगा, जिसके लिए उसने अपनी वरीयता का उल्लेख किया है। उम्‍मीदवारों द्वारा सेवाओं के संबंध में एक बार वरीयताओं का उल्लेख कर दिए जाने के बाद इसमें परिवर्तन की अनुमति नहीं होगी।

 

(4) ऐसे उम्मीदवार जो भारतीय प्रशासनिक सेवा या भारतीय पुलिस सेवा हेतु विचार किए जाने के इच्छुक हों, उन्हें अपने ऑनलाइन विस्तृत आवेदन पत्र-II में भारतीय प्रशासनिक सेवा या भारतीय पुलिस सेवा हेतु विभिन्न जोनों तथा संवर्गों की अपनी वरीयता के क्रम का उल्लेख करना होगा। उम्मीदवारों द्वारा जोन तथा संवर्ग के संबंध में एक बार इंगित कर दिए गए वरीयता क्रम में परिवर्तन की अनुमति नहीं होगी।”

 

अतः, परीक्षा नियमों के पूर्वोक्‍त प्रावधानों के अनुसार सभी उम्मीदवारों को डीएएफ-II केवल ऑनलाइन माध्यम से भरना और सब्मिट करना है। यह डीएएफ-II संघ लोक सेवा आयोग की वेबसाइट (https://upsconline.nic.in) पर 25 मार्च, 2021 से  05 अप्रैल, 2021 सायं 6:00 बजे तक उपलब्ध होगा।

 

सेवा/संवर्ग आबंटन के संबंध में डीएएफ-II में एक बार ऑनलाइन चुन ली गई और सबमिट कर दी गई वरीयताओं को बाद में संशोधित अथवा परिवर्तित नहीं किया जा सकेगा। अत: उम्‍मीदवारों को सलाह दी जाती है कि सेवाओं और जोनों (उनके अंतर्गत आने वाले संवर्गों) के संबंध में अपनी वरीयताएं भरते समय पर्याप्‍त सावधानी बरतें। यदि कोई उम्‍मीदवार, निर्धारित अंतिम तारीख/समय तक डीएएफ-II को सब्मिट करने में विफल रहता है, तो यह मान लिया जाएगा कि सेवाओं तथा जोनों/संवर्गों के संबंध में उसे कोई वरीयता प्रदान नहीं करनी है और उसे उच्चतर शिक्षा, विभिन्न क्षेत्रों में अपनी उपलब्धियों, सेवा अनुभव, अ.पि.व. अनुबंध (केवल अ.पि.व. श्रेणी के लिए), ईडब्ल्यूएस अनुबंध (केवल ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए) आदि संबंधी दस्‍तावेज/प्रमाण-पत्र भी अपलोड नहीं करने हैं। इस संबंध में किसी अनुरोध पर विचार नहीं किया जाएगा।

 

डीएएफ-I तथा डीएएफ-II में पहले प्रदान की गई सूचना में किसी भी प्रकार का परिवर्तन/संशोधन करने के किसी भी अनुरोध पर आयोग द्वारा विचार नहीं किया जाएगा। तथापि, जहां कहीं आवश्‍यक हो, उम्‍मीदवारों को सलाह दी जाती है कि उनके पते/ संपर्क संबंधी विवरण में किसी प्रकार का परिवर्तन होने पर, इस प्रेस नोट के प्रकाशन के 7 दिनों के भीतर पत्र, ई-मेल (csm-upsc@nic.in)अथवा पैराग्राफ 3 में  उल्लिखित नंबरों पर फैक्‍स द्वारा सूचना तत्‍काल भेजी जाए।

 

अर्हता प्राप्‍त सभी उम्‍मीदवारों को साक्ष्‍यांकन प्रपत्र ऑनलाइन भरकर उसे ऑनलाइन ही जमा कराना होगा। साक्ष्‍यांकन प्रपत्रव्‍यक्‍तित्‍व परीक्षण (साक्षात्‍कार) प्रारंभ होने की तारीख से व्‍यक्‍तित्‍व परीक्षण (साक्षात्‍कार) के पूरा होने तक कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग की वेबसाइट पर, https://cseplus.nic.in/Account/Login लिंक पर उपलब्‍ध कराया जाएगा। अत:, व्‍यक्‍तित्‍व परीक्षण (साक्षात्‍कार) के लिए अर्हता प्राप्‍त सभी उम्‍मीदवारों को इसे निर्धारित समय-सीमा के भीतर ही ऑनलाइन भरने की सलाह दी जाती है। साक्ष्‍यांकन प्रपत्र के संदर्भ में किसी प्रकार के प्रश्‍न/ स्‍पष्‍टीकरण के लिए उम्‍मीदवार, कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग से उनकी ई-मेल आईडी doais1@nic.inusais-dopt@nic.in, या टेलीफोन नंबर 011-23092695/ 23040335/23040332 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

जिन उम्मीदवारों ने अर्हता प्राप्त नहीं की है, उनके अंक-पत्र, अंतिम परिणाम (व्यक्तित्व परीक्षण के आयोजन के बाद) के प्रकाशित होने की तारीख से 15 दिनों के अंदर आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध होंगे तथा वेबसाइट पर 30 दिनों की अवधि के लिए उपलब्ध रहेंगे।