सीमेंट के दाम में बढ़ोतरी,ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने परिवहन भाड़े में 12 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की मांग रखी

 

परिवहन मंत्री श्री अकबर ने सीमेंट कंपनियों और ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधियों की ली बैठक


 रायपुर, । असल बात न्यूज।

देश के सबसे बड़े सीमेंट उत्पादक राज्य छत्तीसगढ़ में सीमेंट की कीमत आसमान पर पहुंच गई है। सिर्फ 1 महीने के भीतर सीमेंट की कीमत ₹230 से बढ़कर ₹300 प्रति बोरी पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि ट्रांसपोर्टर्स के द्वारा परिवहन भाडे में वृद्धि करने की मांग को लेकर सीमेंट का उठाव नहीं किया जा रहा है जिसके कारण यह मूल्य वृद्धि हुई है। ऐसे में भवन निर्माताओं को मनमाने दाम पर सीमेंट खरीदना पड़ रहा है। ट्रांसपोर्टर डीजल का दाम बढ़ने से भाड़ा बढ़ाने की मांग की मांग को लेकर संघर्ष कर रहे हैं लेकिन सीमेंट के दामों में इतनी अधिक मूल्य वृद्धि आखिर कमाई कौन कर रहा है ? मूल्य वृद्धि का यह पैसा आखिर किसकी जेब में जा रहा है ? यह समझ से परे है। इस मूल्य वृद्धि से आम लोग त्रस्त हो रहे हैं।सरकार ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधियो से बातचीत कर इस समस्या का हल निकालने के उपाय  कर रही है। लेकिन समस्या का हल नहीं निकलने  तक आम जनता लूट रही है।





परिवहन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने आज राजधानी के शंकर नगर स्थित अपने निवास कार्यालय में ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन और सीमेंट कंपनियों के प्रतिनिधियों की बैठक ली। उन्होंने बैठक में सीमेंट ट्रांसपोर्ट के भाड़े संबंधी और ट्रांसपोर्ट हड़ताल के मुद्दे पर दोनों संघ के प्रतिनिधियों से बारी-बारी से चर्चा की। चर्चा के दौरान ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने डीजल के दाम में बढ़ोत्तरी को ध्यान में रखमें हुए परिवहन भाड़े में अंततः 12 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी किए जाने की मांग रखी। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कहा कि शासन की मध्यस्थता के मद्देनजर यदि सीमेंट कंपनियां परिवहन भाड़े में 12 प्रतिशत वृद्धि को मान्य कर लेती हैं तो उनके द्वारा परिवहन का कार्य पूर्वत शुरू कर दिया जाएगा। 

 मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने कहा कि शासन की यह मंशा है कि सीमेंट का परिवहन बिना किसी व्यवधान के होता रहे ताकि आम लोगों को किसी भी तरह की परेशानी न हो। इसको ध्यान में रखते हुए ही ट्रांसपोटर्स और सीमेंट कंपनियों के पदाधिकारियों की यह संयुक्त बैठक आहूत की गई है। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य दोनों पक्षों के हितों का ध्यान रखना और जनसामान्य को सीमेंट की किल्लत से बचाना है। उन्होंने सीमेंट कंपनियों के पदाधिकारियों से ट्रांसपोटर्स द्वारा परिवहन भाड़े में बढ़ोत्तरी की मांग पर गंभीरता से विचार कर इसका तत्काल समाधान निकाले जाने की बात कही। इस अवसर पर राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री गिरीश देवांगन, छत्तीसगढ़ राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष श्री रामगोपाल अग्रवाल, अतिरिक्त परिवहन आयुक्त श्री दीपांशु काबरा तथा सीमेंट कंपनियों और ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधि बड़ी संख्या में उपस्थित थे।